CISF में निकलेगी 35000 भर्तियां, जानिए- इस भर्ती से जुड़ी अहम बातें

CISF में निकलेगी 35000 भर्तियां, जानिए- इस भर्ती से जुड़ी अहम बातें |

cisf-will-invite-job-application-35000-various-posts

केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) जल्द ही 35000 से अधिक पदों पर भर्ती करने की योजना बना रहा है। इस भर्ती में कांस्टेबल, ड्राईवर, हेड कांस्टेबल और असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर पदों पर नियुक्ति की जाएगी।सरकारी परीक्षा और सेना में जाने की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों के लिए अच्छी खबर है, क्योंकि सीआईएसएफ एक साथ इतने पदों पर भर्ती करने जा रहा है।
[post_ads]
हालांकि इस परीक्षा की योग्यता, पद, आवेदन प्रक्रिया, चयन प्रक्रिया, आवेदन करने की आखिरी तारीख आदि के बारे में कोई भी फैसला नहीं लिया गया है। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया है कि सीआईएसएफ में 35000 उम्मीदवारों की भर्ती की जाएगी। अगर फोर्स में इन उम्मीदवारों की होती है तो सीआईएसएफ में सैनिकों की संख्या बढ़कर 1.8 लाख हो जाएगी। इस भर्ती के बारे में ईस्टर्न सेक्टर हेडक्वार्टर के उद्घाटन के मौके पर बताया गया है।

इस भर्ती की रुपरेखा तैयार होने के बाद आधिकारिक वेबसाइट और अखबारों के माध्यम से इसकी जानकारी दे दी जाएगी। बताया जा रहा है कि इस भर्ती में कांस्टेबल, ड्राईवर, हेड कांस्टेबल और असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर पदों पर नियुक्ति की जाएगी। बता दें कि सीआईएसएफ समय समय पर कई भर्तियां निकालते हुए उम्मीदवारों की नियुक्ति करता है। 

हाल ही में सीआईएसएफ ने 79 असिस्‍टेंट सब इंस्‍पेक्‍टर (स्टेनो) पदों के लिए योग्य उम्मीदवारों से आवेदन आमंत्रित किए हैं। सीआईएसएफ ने इन पदों में आरक्षण के नियमानुसार आरक्षित वर्ग के लिए कुछ पद आरक्षित किए हैं। भर्ती में आवेदन करने के लिए आवेदक को 12वीं पास होना आवश्यक है और टाइपिंग स्पीड को लेकर भी योग्यता तय की गई है। चयनित उम्मीदवारों को 5200 रुपये से 20200 रुपये पे स्केल और 2800 रुपये ग्रेड पे दिया जाएगा।
[post_ads_2]
सीआईएसएफ एक अर्धसैनिक बल हैं, जिसका मुख्य कार्य सरकारी कारखानो एवं अन्य सरकारी उपक्रमों को सुरक्षा प्रदान करना है। ये बल देश के विभिन्न महत्वपूर्ण संस्थानों की भी सुरक्षा करता है। इस बल का गठन 1969 में हुआ था। आज इस बल की संख्या लगभग 1.50 लाख है। ये बल सरकारी उपक्रमों की सुरक्षा के आलावा देश के आंतरिक सुरक्षा,विशिष्ट लोगों की सुरक्षा,मेट्रो,परमाणु संस्थान,ऐतिहासिक धरोहरों,आदि की भी सुरक्षा करता है।

Source :- Jansatta.com

Comments